केबल के खर्चीला होने तथा रख-रखाव की समस्या के कारण विभिन्न कम्प्यूटर को नेटवर्क से जोड़ने के लिए बेतार तकनीकी प्रयोग किया जा रहा है। इसमें रेडियो तरंगों और अवरक्त किरप (Infra red rays) का प्रयोग कर कम दूरी के लिए नेटवर्क स्थापित किया जाता है।

वाई-मैक्स (WIMAX-World wide Inter operability for Microwave Access) 

यह लंबी दूरी तक के लिए बेतार की सहायता से डाटा का संचरण संभव बनता है। इसकी विशेषता संचार माध्यम का विशाल बैंड(ब्राडबैंड) है।  Wi Max वायरलेस तकनीक द्वारा विभिन्न शहरों तथा राष्ट्रों के बीच इंटरनेट संपर्क स्थापित करता है तथा वायरलेस वाइड एरिया (Wireless WAN) का निर्माण करता है। इसमें डाटा Transfer  की गति 1 Gbps तक हो सकती है। वाई-मैक्स 3.3से  3.4  GHz का के बीच कार्य करता है। यह एक दूरसंचार प्रोटोकाल है उपयोग ब्राडबैंड वायरलेस एक्सेस द्वारा मोबाइल इंटरनेट सार प्रदान करने में किया जाता है।

वायरलेस लोकल लूप (WLL-Wireless cal Loop)

यह स्थानीय बेतार तकनीक है जिसमें बड़ा बैंडविडा उच्चगति के डाटा संचरण के साथ टेलीफोन की सुविधा भी प्रदान की जाती है। यह नेटवर्क के लिए एक लोकप्रिय साधन होता जा रहा है।

ब्लूटूथ (Bluetooth)

यह एक वायरलेस तकनीक मानक (Wireless Technology Standard) है, जिसके द्वारा कोर वेबलेंथ की रेडियो तरंगों का प्रयोग कर कम दूरी (100 मीटर तक के लिए डाटा का आदान-प्रदान संभव बनाया जा सकता है। ब्लाक तकनीक में 2.4 GHz से 2.8 GHz के बीच के रेडियो तरंगों का प्रयोग किया जाता है। इसकी सहायता से कम्प्यूटर के विभिन्न उपकरण जैसे-माउस, की-बोर्ड, प्रिंटर, हेडसेट, मॉडेम आदि को बिना तार के आपस में जोड़ा जाता है तथा कम दूरी पर स्थित कम्प्यूटरों को आपस में जोड़कर Wireless Personal Area Network भी बनाया जा सकता है।

इस तकनीक द्वारा मोबाइल फोन की सहायता से कम्प्यूटर को इंटरनेट से जोड़कर उपयोग किया जा सकता है। ब्लूटूथ डिवाइस को कम्प्यूटर के यूएसबी पोर्ट (USB Port) से जोड़ा जाता है। ब्लूटूथ तकनीक को RS-232 डाटा केबल के विकल्प के रूप में प्रयोग किया जाता है।

वाई-फाई (Wi-Fi)

यह एक वायरलेस तकनीक मानक है जिसका उपयोग वायरलेस लोकल एरिया नेटवर्क (Wireless LAN) तैयार करने में किया जाता है। इसके द्वारा कम्प्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल फोन तथा अन्य उपकरणों को बेतार तकनीक द्वारा 100 मीटर की दूरी तक आपस में तथा इंटरनेट से जोड़ा जाता है।

वाई-फाई एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन वाई-फाई एलायंस (Wi-Fi Alliance) का ट्रेडमार्क है।

वायरलेस एक्सेस प्वाइंट (Wireless Access Point) 

यह एक डिवाइस है जो विभिन्न उपकरणों को वाई-फाई या ब्लूटूथ मानकों का प्रयोग कर वायरलेस नेटवर्क से जोड़ता है। इसक लिए रेडियो ट्रांसमीटर तथा रिसीवर का प्रयोग किया जाता है। परंतु वायरलेस एक्सेस प्वाइंट का दूसरा छोर राउटर के सहारे नटव बैकबोन से जुड़ा हो सकता है। वायरलेस एक्सेस प्वाइंट को हॉटस्प। (Hot Spot) भी कहा जाता है। हॉटस्पॉट वह स्थान है जहा वायरलेस नेटवर्क द्वारा इंटरनेट सेवा प्रदान की जाती है।

वायरलेस एप्लिकेशन प्रोटोकाल (Wireless ने aplication Protocol) 

यह एक अंतर्राष्ट्रीय मानक है जिसका पयोग मोबाइल फोन के द्वारा इंटरनेट से जुड़ने तथा इंटरनेट पर सेवाओं के लिए किया जाता है। वायरलेस अप्लिकेशन प्रोटोकॉल सॉफ्टवेयर का प्रयोग GSM (Global System for Mobile Communication) तथा CDMA (Code Division Multiple Access) मोबाइल फोन की इन दोनों तकनीकों में किया जाता है। प्रोटोकाल में मोबाइल फोन पर इंटरनेट डाटा प्राप्त करने के लिए वायरलेस मार्कअप लेग्वेज (Wireless Markup Language) का प्रयोग किया जाता है।

लाई-फाई (Li-Fi Light Fidelity)

यह उच्च गति से संचार प्रदान करने वाला बेतार (Wireless) संचार तकनीक मानक है जो डाटा भेजने और प्राप्त करने के लिए Visible Light Communication का उपयोग करता है। इसमें डाटा भेजने के लिए Light Emitting Diode (LED) तथा प्राप्त करने के लिए Photo Diode का प्रयोग किया जाता है।

Pin It on Pinterest

Share This
InterServer Web Hosting and VPS

Best Hosting

Your website will load faster than ever because our servers are never overloaded. The network is route optimized. We run the server optimization and security technology